Dalha Pahad Chhattisgarh : एक खुबसूरत धार्मिक स्थल

जांजगीर चांपा जिले के अकलतरा के पास इसी दलहा पहाड़ अपनी खूबसूरत धार्मिक स्थल के लिए जानी जाती हैं। पहाड़ के बारे में यहां के स्थानीय लोगों द्वारा बहुत सी कहानीयां तथा चमत्कार के किस्से सुनाने को मिलते हैं। दलहा पहाड़ में प्रतिवर्ष नाग पंचमी के अवसर पर गांव समिति द्वारा विशाल मेले का आयोजन किया जाता है जिसमें दूर-दूर से बहुत से पर्यटक मेले में भाग लेने के साथ आनंद उठाने आते हैं।

हम आपको dalha pahad chhattisgarh की पूरी जानकारी इस पोस्ट में देंगे। जिससे आप इस धार्मिक स्थल के बारे में जान सके। तथा भविष्य में अपने दोस्तों तथा परिवार वालों के साथ इस अद्भुत जगह में घूमने के लिए आ सके। ताकि आप जान सके, दलहा पहाड़ के बारे में, दलहा पहाड़ पिकनिक स्पॉट, दलहा पहाड़ की स्टोरी के बारे में।

Dalha Pahad Chhattisgarh | दलहा पहाड़ छत्तीसगढ़

Dalha Pahad Chhattisgarh

बहुत से लोग पूछते हैं कि दलहा पहाड़ कहां स्थित है? इसलिए उनको बता दूं कि दलहा पहाड़ छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा जिले में स्थित है। तथा जांजगीर चांपा से दलहा पहाड़ की दूरी लगभग 25 किलोमीटर है। जहां आप बड़ी आसानी से अपने पूरे परिवार के साथ इस धार्मिक स्थल में घूमने जा सकते हैं।

अकलतरा के पास स्थित दलहा पहाड़ अपनी प्राकृतिक खूबसूरती तथा धार्मिक चमत्कारों के लिए जाना जाता है। यह स्थल उन लोगों के लिए उपयुक्त है जो अपने आसपास एक शांत वातावरण तथा प्राकृतिक सुंदरता एवं मनोरंजन गतिविधियां करने के लिए जगह की तलाश में रहते हैं। यहां पर्यटक आकर पहाड़ के ऊपर धार्मिक अनुभव के साथ-साथ मनोरंजन का भी आनंद उठाते हैं। 

आपको बता दूं कि दलहा पहाड़ की ऊंचाई लगभग 750 मीटर है। जिसे देखने दूर-दूर से पर्यटक आते हैं। यह एक मनोरंजन स्थल है जहां आपको शांत वातावरण घने जंगल एवं कल कल करते झरने तथा नदिया इसकी सुंदरता में चार चांद लगाती हैं।

दलहा पहाड़ में प्रतिवर्ष की तरह नाग पंचमी के अवसर पर स्थानीय लोगों द्वारा विशाल मेले का आयोजन कर मेले को धूमधाम से मनाया जाता है। पहाड़ी के ऊपर बहुत से प्राचीन मंदिर स्थित है जिसकी पूजा पाठ अर्चना की जाती हैं। साथ ही स्थानीय लोगों का यह मानना है कि पहाड़ के ऊपर दलहा बाबा का निवास स्थान हुआ करता था, जो आज भी पहाड़ के ऊपर निवास करते हैं। 

कुछ लोगों का यह भी मानना है कि पहाड़ के ऊपर 10 कुंड तथा दो तालाब हुआ करता था। जिसमें उसे समय मंदिरों की पूजा अर्चना करने के लिए कुंड के जल का उपयोग किया जाता था। लेकिन अभी पहाड़ के ऊपर केवल आठ कुंड एवं एक तालाब स्थित है जो यह सिद्ध करती है कि यह कहानी सत्य है। 

Dalha Pahad Story | दलहा पहाड़ की कहानी 

Dalha Pahad Chhattisgarh

ऐसा कहा जाता है कि दलहा पहाड़ का निर्माण एक विशाल ज्वालामुखी के फटने के कारण हुआ था। जिसे यहां पर अधिक मात्रा में चूना पत्थर देखने को मिल जाता है। यह कहानी यहां के बहुत से स्थानीय लोगों द्वारा सुनने को मिल जाती है।

दूसरा यह है कि पहाड़ के ऊपर दलहा बाबा का निवास स्थान हुआ करता था। जो बहुत ही प्राचीन था, बाबा द्वारा पहाड़ के ऊपर स्थित मंदिरों की पूजा अर्चना तथा स्थानीय लोगों को उपदेश दिए जाते थे। बाबा इस पहाड़ी के ऊपर तपस्या करते थे जिसके कारण इस पहाड़ का नाम दलहा पहाड़ पड़ा।  

Dalha Pahad Mandir | दलहा पहाड़ मंदिर

अब हम आपको दलहा पहाड़ के ऊपर स्थित मंदिरों के बारे में बताएंगे, जिसके लिए यह पहाड़ एक धार्मिक स्थल कहलाती है। माना जाता है कि पहाड़ी के ऊपर स्थित बहुत से प्राचीन मंदिर रामायण तथा महाभारत काल के समय के हैं। जिसके कारण बहुत से श्रद्धालु भक्त एवं पर्यटक dalha pahad chhattisgarh की यात्रा करने के लिए आते हैं।

दलहा पहाड़ के ऊपर बहुत से प्राचीन मंदिर देखने को मिलते हैं जिसमें श्री कृष्ण मंदिर, अर्धनारीश्वर मंदिर, नाग नागिन मंदिर, श्री सिद्ध मुनि आश्रम जैसे बहुत से प्राचीन मंदिर इस पहाड़ी के ऊपर आपको देखने को मिल जाएंगे। जिसे यहां के स्थानीय लोग एक चमत्कार का प्रतीक मानते हैं। तथा लोग इस स्थल को एक पवित्र एवं चमत्कारीक धार्मिक स्थल के रूप में जानते हैं।

एक मनोरंजन पिकनिक स्पॉट के रूप में

दलहा पहाड़ आने के बाद आप स्थल को केवल धार्मिक स्थल ना समझे क्योंकि यह स्थल एक खूबसूरत प्राकृतिक पर्यटन स्थल भी हैं। लोग यहां प्रतिवर्ष अपने परिवार तथा दोस्तों के साथ पिकनिक बनाने भी आते हैं, यहां लोग पहाड़ के ऊपर शांत वातावरण एवं हरे भरे जंगलों एवं ऊंचे ऊंचे पहाड़ों के ऊपर ट्रैकिंग का आनंद भी उठाते हैं।

यहां आने के बाद आप बहुत से मनोरंजन गतिविधियों का आनंद उठा सकते हैं, पास के झील में नौका विहार कर प्रकृति की सुंदरता का अनुभव प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप चाहे तो, दलहा पहाड़ के पास स्थित होटल में रख कर यहां की सुंदरता को निहारने के लिए एक से दो दिन का ट्रिप प्लान कर आनंद उठा सकते हैं।

दलहा पहाड़ कैसे पहुचे?

यदि आप दलहा पहाड़ की खूबसूरती का आनंद खाने के लिए जांजगीर चांपा जिला आते हैं तो हमने नीचे यहां आने के लिए निम्न यात्रा के साधन बताए हैं इसकी सहायता से आप बड़ी आसानी से dalha pahad chhattisgarh की खूबसूरती का आनंद खा सकते हैं।

सड़क मार्ग द्वारा: आप छत्तीसगढ़ के किसी भी जिले से सड़क मार्ग द्वारा बस, कार, मोटरसाइकिल की सहायता से बड़ी आसानी से दलहा पहाड़ पहुंच कर यहाँ की सुंदरता का आनंद उठा सकते हैं।

रेल मार्ग द्वारा: आप अपने निकटतम रेलवे स्टेशन से रेल मार्ग द्वारा अकलतरा रेलवे स्टेशन तक की यात्रा सफल कर इस अद्भुत पर्वतीय स्थल का लुफ्त उठाने आ सकते हैं।

हवाई मार्ग द्वारा: आप अपने निकटतम हवाई अड्डे से हवाई मार्ग द्वारा यात्रा कर जांजगीर चांपा पहुंचकर इसकी की खूबसूरती का लुफ्त उठा सकते हैं। 

Leave a comment