ये है प्रमुख 10 गरियाबंद में घुमने की जगह

दोस्तों, यदि आप गरियाबंद जिले के निवासी है और आप यहाँ अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ घुमने की जगह की तलाश में है तो मैंने आपके लिए गरियाबंद में घुमने की जगह सुझाई है जिसमे आपको गरियाबंद के 10 प्रमुख पर्यटन स्थल देखने को मिल जायेंगे। हमने इन 10 जगहों के बारे में detail में जानकारी साझा की है जो आपको वहां जाने में मदद करेगा। 

यहाँ आपको ऊँचे-ऊँचे पहाड़ और वादियों में गरियाबंद की प्राकृतिक सुंदरता देखने को मिलेगी । यहाँ के झरने पूरे देश भर में प्रसिद्ध हैं, जिन्हें देखने के लिए देश भर से लोग हर साल आते हैं। प्रकृति की गोद में बसा गरियाबंद सिर्फ नेचर के लिए ही नहीं जाना जाता बल्कि धार्मिक स्थल के लिए भी जाना जाता है।

गरियाबंद में घुमने की जगह | Gariaband me Ghumne ki Jagah

 तो चलिए जानते हैं गरियाबंद के 10 खूबसूरत जगहों को आपको गरियाबंद पर्यटन स्थल में घूमने के लिए बहुत सारी जगह मिल जायेंगी लेकिन हमने आपके लिए कुछ अत्यधिक घुमने जाने वाले जगहों की सूची सुझाई है जहाँ आप अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जा सकते है।

1. Jatmai Mata Mandir 36 km

शुरू करते हैं दोस्तों, पूरे देश में प्रसिद्ध जतमाई माता मंदिर, अपने खुबसूरत झरने और मंदिर के लिए जाना जाता है। जो गरियाबंद जिला मुख्यालय से लगभग 36 किमी की दुरी पर स्थित है तथा जतमाई माता का मंदिर रायपुर से लगभग 90 किलोमीटर दूर छुआ और पांडुगा के रोड के बीच में स्थित है। यह मंदिर अपने खूबसूरत झरने के लिए भी जाना जाता है। माता का मंदिर एक छोटे से गुफा में विराजित है और साथ में माता के मंदिर से लगा हुआ खूबसूरत झरना है, जहाँ हजारों लोग रोज पहुंचते हैं। जटमई माता का यह स्थान खूबसूरत जंगल और पहाड़ों की गोद में बसा है।

2. Rajiv Lochan Temple 40 km 

छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहेने वाले राजिम में स्थित राजीव लोचन मंदिर से। गरियाबंद में स्थित यह सबसे खूबसूरत और शानदार जगह है। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित बहुत ही प्राचीन मंदिर है, जिसे देखने के लिए देशभर से लोग हर साल आते रहते हैं। राजीव लोचन का इतिहास 5वीं शताब्दी में बनवाया गया था। यह मंदिर त्रिवेणी संगम जो महानदी पर स्थित है, उसके तट पर स्थित है। यहाँ राज्य में घूमने के लिए और भी बहुत सारी खूबसूरत जगह हैं जैसे कुलेश्वर नाथ महादेव मंदिर, बाबा गरीब नाथ का मंदिर, सीताबाड़ी, और सबसे विशाल रामनणपत का निर्माण करने वाला विशाल श्री राम जी का मूर्ति साथ ही बहुत कुछ।

3. Bhuteshwar Nath Mahadev Mandir

भूतेश्वर नाथ महादेव मंदिर जो गरियाबंद जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। जो गरियाबंद से मात्र 3 किमी की दुरी पर स्थित है जहाँ आप आसानी से पहुच कर महादेव के दर्शन कर सकते है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। इस शिवलिंग की मान्यता है कि हर साल इसमें बढ़ोतरी होती है। इस मंदिर में आपको प्राकृतिक शिवलिंग देखने को मिलता है, जो विश्व का सबसे बड़ा प्राकृतिक शिवलिंग माना जाता है। अभी सावन चल रहा है, तो यहाँ भक्तों और कामदियों का तांता लगा रहता है।

4. Ghatarani Mata Mandir 25 km

मुझे पता है आप इस स्थान के बारे में अवस्य जानते होंगे मै बात कर रहा हु घटारानी माता मंदिर की जो महज 25 किमी की दुरी पर देखने को मिल जाता है। घटारानी माता का मंदिर और जलप्रपात पुरे छत्तीसगढ़ में प्रसिद्ध है जिसके कारन यहाँ प्रतिवर्ष लोग घुमने के लिए आते है। मंदिर के निकट सुंदर झरना स्थित है जो इस जगह को और अधिक आकर्षक बनाता है। यह मंदिर रायपुर से लगभग 25 किलोमीटर दूर गांव की खूबसूरत वनों के बीच बसा है। यहाँ माँ घटारानी अपनी गुफाओं में विराजित हैं और उनके चरण पखारने के लिए झरना उनके चरणों से होकर गुजरता है।

यहाँ भी जाए: यह रही 10 प्रमुख बलौदा बाज़ार में घूमने की जगह की सूची

5. Chingra Pagar Waterfall 15 km

चिंगरा पगार वॉटरफॉल, यह वॉटरफॉल गरियाबंद जिले के सबसे खूबसूरत वॉटरफॉल्स में से एक है। जो गरियाबंद जिले से महज 15 किमी की दुरी पर देखने को मिल जाता है, जहाँ आप बड़ी आसानी से किसी भी यात्रा के साधन द्वारा पहुच सकते है। अभी मानसून में इस झरने को देखने के लिए आसपास के हजारों लोग यहाँ रोजाना पहुंच रहे हैं। यह झरना गरियाबंद जाने के मुख्य मार्ग पर खूबसूरत जंगल के अंदर स्थित है।

6. Fanikeshwar Nath Mahadev Temple 50 km

फणिकेश्वर नाथ महादेव मंदिर जो एक पवित्र स्थान है यह मंदिर गरियाबंद जिले के सिंघेश्वर ब्लॉक में स्थित है। तथा गरियाबंद जिला मुख्यालय से लगभग 50 किमी की दुरी पर स्थित है। इस मंदिर का निर्माण चौदहवीं शताब्दी में फणी नागवंशी राजाओं द्वारा करवाया गया था। इसलिए इस मंदिर का नाम फणिकेश्वर नाथ महादेव मंदिर पड़ा। और यहाँ लोग सावन के महीने में भारी संख्या में आते है और महादेव की पूजा अर्चना  करते है लोगों की मान्यता है की यहाँ आने से उनकी मनोकामनाए पूर्ण होती है।

7. Sikasar Dam 50 km

अगला खूबसूरत जगह है दोस्तों, सिकासार बांध, जो गरियाबंद जिले से लगभग 50 किमी की दुरी पर स्थित है। यहाँ भी आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ पिकनिक मानाने और बांध की खूबसूरती देखने के लिए जा सकते है। यह बांध गरियाबंद जिले का सबसे खूबसूरत पिकनिक स्पॉट में से एक है। यहाँ पर बांध बरसात के समय पूरी तरह भर जाता है। यहाँ हाइड्रो पावर बिजली उत्पादन भी किया जाता है। बांध के पीछे जब बरसात में जाएंगे तो खूबसूरत झरने पहाड़ों से बहते हुए दिखाई देंगे।

8. Sitabari Archaeological Site

आठवें नंबर पर एक ऐसी जगह है जो बहुत कम लोगों को पता है। मै बात कर रहा हु सीताबाड़ी आर्कियोलॉजिकल साइट की जो राजीव लोचन मंदिर के पास ही स्थित है। यहाँ मिलने वाली वस्तुएं और यहाँ का स्ट्रक्चर अभी के मुताबिक काफी अलग शानदार है।। यह आर्कियोलॉजिकल साइट अभी-अभी ही खोजी गई है। यह स्थान पूरी तरह से मिट्टी में ढकी हुई थी, जिसे आर्कियोलॉजिकल विभाग द्वारा अभी प्राप्त किया गया है। इस पूरे आर्कियोलॉजिकल साइट में कई रहस्यमयी चीजें मिली हैं, जो वैज्ञानिको को हैरान कर देने वाली है जैसे कि 2800 साल पुराना प्राचीन अवशेष, कुछ प्राचीन मंदिर और घरों के निर्माण की सामग्रीयां और बहुत कुछ। जिसे आप यहाँ आने के बाद खुद ही देख सकते है।

9. Udanti Sitanadi Tiger Reserve 70 km

गरियाबंद का सातवाँ सबसे खूबसूरत जगह है उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व जो जिला मुख्यालय गरियाबंद से लगभग 70 किमी की दुरी पर स्थित है इस टाइगर रिजर्व का नाम यहाँ बहने वाली दो नदियों के ऊपर है – उद्यंती नदी और सीता नदी। साथ ही उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व की स्थापना 2008 – 2009 में हुई थी और यह छत्तीसगढ़ का एकमात्र ऐसा स्थान है जहाँ छत्तीसगढ़ के अनेक वन्यजीव देखने को मिलते हैं। यहाँ पहुचने के लिए आपको बहुत से विकल्प मिल जाते है आप अपने बाइक, कार या बस से यहाँ आ सकते है और यहाँ के प्रक्रितक खूबसूरती का आनंद उठा सकते है।

10. Devdhara Waterfall 85 km

अंत में, दसवें नंबर पर आपको देखने को मिल जाता है देवधारा वॉटरफॉल जिसे लोकल लोग देवदार के नाम से भी जानते हैं। इस वॉटरफॉल को छत्तीसगढ़ का छोटा चित्रकूट भी कहा जाता है। जो गरियाबंद से लगभग 85 किमी की दुरी पर देखने को मिल जाता है, जहाँ आप किसी भी यात्रा के विकल्प से पहुच सकते है। ग्राम कुल्हाड़ी घाट और हीरा खदान पायली खंड के बीच प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर यह खूबसूरतदेवधारा वॉटरफॉलआपको दिखाई देगा। यह वॉटरफॉल दो सुंदर पहाड़ियों के बीच बहता है, जो इंद्रावण नदी पर स्थित है।

Watch this Video

Conclusion

ये रही गरियाबंद में घुमने के लिए 10 प्रसिद्ध स्थल जहाँ प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में पर्यटक और  भक्त आतें है। आप भी यदि गरियाबंद जिले के निवासी है और आप एक ऐसी जगह की तलाश में है तो आप यहाँ आपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ यहाँ आ सकते है और यहाँ की खूबसूरती का आनंद उठा सकते है। 

मै आशा करता हु की ये सभी जगह आपको पसंद आई होगी और आप इस जगह पर जाकर अपने दोस्तों के साथ एक यादगार पल बिताये होंगे। यदि हाँ तो हमे कमेन्ट में अपना अनुभव shere करना ना भूलें। ताकि अन्य लोग भी यहाँ जा सके।

Leave a comment