Udanti Sitanadi Tiger Reserve की रोचक बातें

यदि आप गरियाबंद जिले में स्थित एक लोकप्रिय स्थल जहाँ आपको प्रकृति के बहुत से सुंदर नज़ारे देखने को मिलते है। वहां जाना चाहते है तो इस पोस्ट में हम आपको इस स्थल की झकल दिखाते हुए उसकी जानकारी देंगे। जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए। 

हम बात कर रहे है उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व की जहाँ प्रकृति के अतभुत नज़ारे आपका इंतेज़ार कर रहे है। यह स्थल के जंगली क्षेत्र है जहाँ तरह तरह के प्राकृतिक दृश्य देखने को मिलते है यदि आप यहाँ जाना चाहते है तो आपको यहाँ के कुछ प्रमुख स्थलों के बारे में पता होना चाहिए।

Udanti Sitanadi Tiger Reserve | उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व

गरियाबंद का यह स्थल सबसे खूबसूरत जगह है उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व जो जिला मुख्यालय गरियाबंद से लगभग 70 किमी की दुरी पर स्थित है इस टाइगर रिजर्व का नाम यहाँ बहने वाली दो नदियों के ऊपर है – उद्यंती नदी और सीता नदी। साथ ही उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व की स्थापना 2008 – 2009 में हुई थी और यह छत्तीसगढ़ का एकमात्र ऐसा स्थान है जहाँ छत्तीसगढ़ के अनेक वन्यजीव देखने को मिलते हैं। यहाँ पहुचने के लिए आपको बहुत से विकल्प मिल जाते है आप अपने बाइक, कार या बस से यहाँ आ सकते है और यहाँ के प्रक्रितक खूबसूरती का आनंद उठा सकते है।

उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व, एक प्राकृतिक सुन्दरता से भरा एक खज़ाना है, जहाँ आपको प्रकृति के बहुत से खुबसुरत नज़ारे देखने को मिलेंगे। चाहे खुबसूरत घने जंगल हो, पहाड़ियाँ हो, नदियाँ हो या वन्य जीव, आपको एक अतभुत एहसास प्रदान करती है। उदंती सीता नदी टाइगर रिजर्व की यहाँ आने वाले लोगों को अपनी प्राकृतिक खूबसूरती से मोहित करती है, यहाँ आपको तरह तरह के प्राकृतिक खूबसूरत स्थल देखने को मिल जाती है, जो आपको ऊर्जा से भर देती है। यह स्थल आपको छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लगभग 177 किलोमीटर की दुरी पर देखने को मिलता है। 

यहाँ आपको तरह तरह की गतिविधियां करने को मिल जाती है, जिसमे बोटिंग, कैम्पिंग, ट्रैकिंग तथा बर्ड वाचिंग का आनंद उठा सकते है। udanti sitanadi tiger reserve में आपको कुछ प्रमुख स्थल देखने को मिलते है, जो है टांगरी-डोंगरी, चौकशील की खुबसुरत पहाड़ी, मादागीरी पर्वत तथा मुचकुंद ऋषि गुफाएँ जो आपको इस स्थल से जोड़े रखती है।

1. टांगरी-डोंगरी

यह स्थल उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। जहाँ प्रकृति के नज़ारे आपको मंत्रमुग्ध कर देंगे। यहाँ सूर्यास्त का नज़ारा पर्यटकों को एक सुकून का दृश्य प्रगट करता है। यहाँ स्थित ऊचे ऊचे पेड़ को सूर्यास्त के समय केसरिया रंग में रंग जाती है। जिसे देखने के लिए लोग दूर दूर से उदंती अभयारण्य आते है।

2. चौकशील पहाड़ी

चौकशील की पहाड़ी आपको एक रोमांच का अनुभव कराती है जब आप पहाड़ी के ऊपर चढ़कर यहाँ से चारों तरफ का नज़ारा देखते है तो यह दृश्य वाकई एक सुनहरा नज़ारा होता है। यहाँ आने वाले लोग चौकशील की पहाड़ी को स्विसलैंड की याद दिलाता है। आप यहाँ आकर एक जगह की खूबसूरती को अनुभव कर सकते है।

3. मादागीरी पर्वत

उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व एक प्राकृतिक स्थल होने के साथ ही एक प्रमुख धार्मिक स्थल भी है। जहाँ आपको छोटे बड़े मंदिर देखने को मिलते है बताया जाता है की यहाँ मादागीरी पर्वत पर भगवान राम आये थे। जिसके कई साक्ष यहाँ देखने को मिल जायेंगे। यहाँ से चारों तरफ का नज़ारा एक शांति का अनुभव प्रदान करता है जिसे आप यहाँ आने के बाद महसूस कर सकते है। 

Official site: udantisitanaditigerreserve

4. मुचकुंद ऋषि गुफाएँ

मुचकुंद ऋषि की गुफाए जहाँ आपको कई रहस्यमय चीजें देखने को मिलते है। इस स्थल के बारे में भी बताया जाता है की यह स्थल महाभारत काल से जुडा हुआ है। यहाँ आपको बहुत से प्राचीन मूर्तियाँ देखने को मिल जायेंगे जो इस बात को बयाँ करती है। जिससे आप यहाँ आने के बाद प्रकृति की खूबसूरती को देखने के आलावा इस अद्वितीय स्थल में धार्मिकता का भी अनुभव कर पाएंगे।

उदंती अभ्यारण कहां स्थित है

उदंती अभ्यारण जिसे उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व कहते है यह स्थल आपको छत्तीसगढ़ राज्य के गरियाबंद जिले में देखने को मिलता है। जो जिला मुख्यालय से महज 70 किमी की दुरी पर स्थित है।

निष्कर्ष

यदि आप किसी ऐसी जगह की तलाश में है जहाँ आप प्रकृति के सुंदर नज़ारे का लुफ्त उठा सके तथा जहाँ आप विदेशो वाली एडवेंचर चींजे अनुभव कर सके तो गरियाबंद का udanti sitanadi tiger reserve आपके लिए एक परफेक्ट स्थल बन जाता है जहाँ आप प्रकृति के नज़ारे देख पाएंगे साथ ही यहाँ आपको धार्मिक स्थल भी मिल जाते है। वो भी कोई ऐसी वैसी नही रामायण काल और महाभारत काल से जुडी हुई तो आपको आद्यात्मिकता की ओर ले चलती है। यहाँ आप अपने पुरे परिवार के साथ आकर एक यादगार पल बिता सकते है।

इसे भी जरुर पढ़ें: जाने तुरतुरिया धाम के बारे में रोचक बातें

Leave a comment